Wednesday, May 22, 2024

बैतूल में मतदान कर्मियों को वापस ला रही बस में लगी भीषण आग, कई EVM हुई राख

भोपाल। एमपी के बैतूल में लोकसभा का चुनाव कराकर वापस आ रहे मतदान दल की बस में आग लग गई। जलती बस से मतदान कर्मियों ने कूद कर जान बचाई. बस में 6 मतदान केंद्र के लगभग 45 कर्मचारी सवार थे। इस आग में कई कर्मचारियों का सामान जलकर खाक हो गया है। हालांकि सभी कर्मचारी सुरक्षित है। 6 पोलिंग की मशीनों में से दो सुरक्षित है बाकी चार मशीनों की अलग अलग सामग्री जल गई है। जिसकी जानकारी निर्वाचन आयोग को भेजी गई है।

बस में आग लगने की सूचना मिलने पर मुलताई और बैतूल से दमकल वाहन मौके पर रवाना किए गए. एसपी, कलेक्टर और अन्य अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। घटना के बारे में बताया गया है कि बस के गियर बॉक्स में अचानक आग लगी। आग भड़कते ही सभी कर्मचारी जैसे तैसे जान बचाकर बाहर निकले.

आग में EVM जलकर खाक

मतदान समाप्त होने के बाद केपिटल रोडवेज की बस क्रमांक mp28 p 9248 में मतदान केंद्र क्रमांक 275 रजापुर, 276 डूडर रैयत, 278 गेहूं बारसा क्रमांक 2, 277 गेहूबारसा, 279 कुंदारैयत और 280 चिखली माल केंद्रों के 39 मतदान कर्मी सहित ईवीएम मशीन और मतदान सामग्री लेकर बैतूल आ रही थी. आग लगने से 2 मतदान केंद्रों की सामग्री पूरी तरह से सुरक्षित बच गई है. तो वहीं चार केंद्रों की अलग अलग सामग्री जल गई है. बस से कूदने के कारण कुछ कर्मचारियों को आंशिक चोटें भी आईं हैं. सभी को दूसरे वाहन से सुरक्षित बैतूल लाया गया है. इस पूरी घटना में कुछ EVM के जलने की भी खबर सामने आई है।

अधिकारी ने बताया

बस में आ रहे पीठासीन अधिकारी मुन्नालाल ने बताया कि “हम एक बस में सवार होकर 6 मतदान दल के सदस्य आ रहे थे, तभी बस में सामने आग लग गई. किसी तरह खिड़कियों से कूद कर हमने जान बचाई. कई लोगों की मशीन जल गई कई के बैग भी जल गए है. हम 6 दल थे जिनमे एक दल के पास 3-3 मशीन थी, जो कि सीयू, बीयू और पीपीयू मेरा VVPAT जला और 1 बोरी जली है। बस के बोनट में आग लगी थी. जिसके कारण ये पूरा हादसा हुआ है।

पूरे मामले को लेकर क्या बोले कलेक्टर?

घटना को लेकर कलेक्टर नरेंद्र कुमार सूर्यवंशी ने बताया, मतदान दल सुरक्षित हैं और 2 मतदान केंद्रों की मशीनें पूरी तरह से सुरक्षित हैं. बची हुई 4 मशीनों में किसी में वीवीपैट (Voter-verified paper audit trail )जला है, किसी में सीयू जला है और किसी का बीयू जला है. बस में तेजी से आग लगने के कारण लोग खुद को बचाने के लिए भाग रहे थे. तभी ये सामान अंदर रह गया. निर्वाचन आयोग और सीईओ निर्वाचन आयोग एमपी को रिपोर्ट प्रस्तुत कर रहे हैं. ऑब्जर्वर को भी रिपोर्ट किया है. रिपोर्ट आने के बाद 4 मतदान स्थल के बारे में फैसला लिया जाएगा.

Latest news
Related news